कुलपति ने बताए सफलता के गूढ़ मंत्र, विजयाराजे स्कूल में हुआ करियर मार्गदर्शन शिविर का आयोजन

कुलपति ने बताए सफलता के गूढ़ मंत्र, विजयाराजे स्कूल में हुआ करियर मार्गदर्शन शिविर का आयोजन

  26 Jun 2022

करियर की संभावनाओं को लेकर कुलपति ने बताए सफलता के गूढ़ मंत्र

■ विश्वविद्यालय चलो अभियान के तहत हुआ करियर मार्गदर्शन परिसंवाद

◆ सिटी चैनल न्यूज नेटवर्क

उज्जैन। विक्रम विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित विश्वविद्यालय चलो अभियान के अंतर्गत उज्जैन के विजयाराजे शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में करियर की संभावनाओं पर एक महत्वपूर्ण सेमिनार का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय ने छात्राओं से संवाद करते हुए उन्हें सफलता के गूढ़ मंत्र दिए। विक्रम विश्वविद्यालय ने हाल में ही विश्वविद्यालय चलो अभियान की शुरुआत की है, जिसके चलते विश्वविद्यालय के शिक्षक विभिन्न विद्यालयों एवं महाविद्यालय में जाकर विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय में संचालित होने वाले पाठ्यक्रमों की जानकारी एवं करियर से सम्बंधित मार्गदर्शन प्रदान कर रहे हैं।

इसी क्रम में उज्जैन के विजयाराजे शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में डॉ शिवि भसीन, डॉ अंजलि उपाध्याय, डॉ अरविन्द शुक्ला, डॉ मोहित प्रजापति एवं डॉ सागर जैस्वाल द्वारा विक्रम विश्वविद्यालय में संचालित होने वाले मुख्य पाठ्यक्रमों की जानकारी प्रदान की गई।  25 जून को विजयाराजे शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में एक विशिष्ट करियर काउन्सलिंग सेमिनार का आयोजन किया गया, जिसमें कुलपति प्रोफेसर अखिलेश कुमार पाण्डेय को विद्यार्थियों के मार्गदर्शन दिया।

विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलानुशासक प्रोफेसर शैलेन्द्र कुमार शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि विद्यार्थियों को अपने लक्ष्य के निर्धारण हेतु बड़े सपने देखना चाहिए तथा उसे प्राप्त करने के लिए कठोर परिश्रम करना चाहिए। डॉ संदीप तिवारी, विभागाध्यक्ष गणित अध्ययनशाला ने कहा कि उत्कृष्ट भविष्य निर्धारण हेतु शिक्षा का माध्यम कोई भी हो सकता है। ऐसे कई उद्हारण हैं जहाँ कि हिंदी माध्यम से अध्यनरत विद्यार्थी भी कई शीर्ष पदों पर पहुंचे हैं।

विजया राजे शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य शरद कुमार व्यास द्वारा स्वागत भाषण दिया गया। श्रीमती कृतिका पराड़कर द्वारा अतिथि परिचय दिया गया। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती कमलजीत कौर ने किया एवं आभार श्रीमती सुनीता मिश्रा ने माना।

 115 total views

Share