बड़ी खबर
पाटीदार हॉस्पिटल में भीषण आग, अस्पताल जलकर हुआ खाक, आगजनी से मचा हाहाकार, आधा दर्जन मरीज झुलसे,फायर बिग्रेड की दमकलों ने एक घँटे की मशक्कत कर आग पर पाया काबू,सभी मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया

पाटीदार हॉस्पिटल में भीषण आग, अस्पताल जलकर हुआ खाक, आगजनी से मचा हाहाकार, आधा दर्जन मरीज झुलसे,फायर बिग्रेड की दमकलों ने एक घँटे की मशक्कत कर आग पर पाया काबू,सभी मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया

  04 Apr 2021

वीवीएस सेंगर

उज्जैन। रविवार की दोपहर फ्रीगंज स्थित पाटीदार हॉस्पिटल में उस समय अफरा तफरी मच गई जब हॉस्पिटल के फर्स्ट और सेकंड फ्लोर पर स्थित नवजात शिशु वार्ड और आईसीयू में आग लग गई। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप ले लिया और पूरे हॉस्पिटल में धुंआ एवं आग की लपटें निकलने लगी।


अस्पताल में लगी भीषण आग से यहाँ भर्ती मरीजों और उनके परिजनों में हाहाकार मच गया और सभी अपनी अपनी जान बचाकर भागने लगे। हालांकि अस्पताल के नर्सिंग स्टाफ ने हिम्मत दिखाई और अपनी जान पर खेलकर यहाँ भर्ती मरीजों को बाहर निकालने में जुट गए और यहाँ भर्ती 80 से अधिक मरीजों को आसपास के अस्पतालों में भिजवाया।इस दौरान आधा दर्जन से अधिक मरीज अस्पताल में लगी आग से बुरी तरह झुलस गए। सबसे बुरी हालत यहां भर्ती कोरोना मरीजों और नवजात शिशुओं और उनकी प्रसूता मांओं की हुईं जिन्हें आनन फानन में उसी हालत में दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया गया। कोरोना के सभी मरीजों को आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज भेजा गया जबकि दूसरे मरीजों को अन्य अस्पतालों में शिफ्ट किया गया। गनीमत ये रही कि किसी भी मरीज की जान नहीं गई। हालांकि आगजनी में अस्पताल के फ़र्स्ट फ्लोर पर स्थित आईसीयू और आइसोलेशन वार्ड जलकर खाक हो गया।


सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की आधा दर्जन से अधिक दमकलें एक के बाद एक मौके पर पहुंची और आग को बुझाने का काम शुरू किया लेकिन आग इतनी भीषण थी की दमकल कर्मियों को आग बुझाने के लिए काफी देर तक मशक्कत करनी पड़ी। पाटीदार हॉस्पिटल में आगजनी की सूचना मिलते ही कलेक्टर आशीष सिंह, एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला, सीएमएचओ डॉ महावीर खण्डेलवाल सहित आईएमए उज्जैन के तमाम सदस्य और अस्पताल संचालक पाटीदार अस्पताल पहुंच गए और मरीजों को अपने अपने अस्पतालों में शिफ्ट करवाने में मदद की। अस्पताल के जिस नवजात शिशु वार्ड और आईसीयू में आग लगी उसमें आधा दर्जन से अधिक नवजात शिशुओं के साथ ही 80 से अधिक कोरोना पेशेंट और अन्य पेशेंट भी थे जिन्हें सुरक्षित निकाल लिया गया। अस्पताल में हुई आगजनी की इस घटना की जाँच आदेश दे दिए गए हैं।

 

Share

error: Content is protected !!