Breaking News
Breaking News
साइंस और टेक्नोलॉजी के युग में भी दिखाई दिया भूत और प्रेत बाधाओं का अस्तित्व, भूतड़ी अमावस्या पर स्नान के लिए केडी पैलेस पर उमड़ी भीड़

साइंस और टेक्नोलॉजी के युग में भी दिखाई दिया भूत और प्रेत बाधाओं का अस्तित्व, भूतड़ी अमावस्या पर स्नान के लिए केडी पैलेस पर उमड़ी भीड़

  05 Apr 2019

वीवीएस सेंगर

उज्जैन। साइंस और टेक्नोलॉजी के युग मे जब इंसान चंद्रमा और मंगल ग्रह पर अपनी बस्ती बनाने की योजना बना रहा है और भूत प्रेत आदि की बातों को अंधविश्वास माना जाता हो तब भूत प्रेत बाधाओं से पीड़ित हजारों लोगों का उज्जैन के कालियादेह पैलेस पर स्नान के लिए एक खास दिन उपस्थित होना भूत प्रेत बाधाओं के अस्तित्व पर बरबस यकीन दिलाने के मजबूर कर देता है।

शुक्रवार को भूतड़ी अमावस्या के मौके पर उज्जैन के कालियादेह पैलेस पर इसी का नजारा दिखा जब सैकड़ों की संख्या में भूत प्रेत बाधाओं से पीड़ित लोगों को उनके परिजन यहां स्थित 52 कुंड में स्नान कराने के लिए दूर दूर से लेकर आये। इस दौरान 40 डिग्री से अधिक की चिलचिलाती धूप में दिनभर यहाँ लोगों की भीड़ लगी रही। भूत प्रेत बाधा के निवारण के लिए पीड़ित लोगों को 52 कुंड में स्नान कराया गया और 52 भैरव का पूजन कराया गया। भूत प्रेत बाधा से पीड़ित कई महिला पुरूषो को रस्सी और जंजीरों से बांध कर यहाँ लाया गया।

मान्यता है कि भूतड़ी अमावस्या पर उज्जैन के कालियादेह पैलेस स्थित 52 कुंड में स्नान कराने और 52 भैरव का पूजन करने से भूत प्रेत बाधा से मुक्ति मिलती है और कष्टों का निवारण होता है। इसलिये भूतड़ी अमावस्या पर हमेशा यहाँ लोगों की भीड़ उमड़ती है। लिहाजा प्रशासन और पुलिस द्वारा सुरक्षा और व्यवस्था के इंतजाम किये जाते हैं। इस बार भी प्रशासन द्वारा यहाँ न केवल 52 कुंड में भूतड़ी अमावस्या के स्नान के लिए पर्याप्त पानी की व्यवस्था की गई बल्कि फव्वारे आदि लगाने के साथ सुरक्षा के भी इंतजाम किए गए हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *