Breaking News
Breaking News
सोमवती अमावस्या के स्नान की तैयारियां पूरी, पुण्य सलिला शिप्रा में स्नान के लिए उज्जैन पहुंचे हजारों धर्मालु

सोमवती अमावस्या के स्नान की तैयारियां पूरी, पुण्य सलिला शिप्रा में स्नान के लिए उज्जैन पहुंचे हजारों धर्मालु

  03 Feb 2019

रामघाट और त्रिवेणी सहित सोमतीर्थ कुंड पर भी की गई स्नान की व्यवस्थाएं

■जल्पेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन के लिए बाहर से की गई व्यवस्थाएं, कलेक्टर और एसपी ने किया व्यवस्थाओं का निरीक्षण

■वीवीएस सेंगर

उज्जैन। सोमवती अमावस्या पर पुण्य सलिला मोक्ष दायिनी शिप्रा में श्रद्धालुओं के स्नान के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। रविवार की शाम कलेक्टर शशांक मिश्र ने एसपी सचिन अतुलकर एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सोमवती अमावस्या के स्नान के लिए शिप्रा तट रामघाट एवं त्रिवेणी घाट सहित सोमतीर्थ कुंड और वहाँ स्थित जल्पेश्वर महादेव मंदिर का दौरा किया और व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया।

यहाँ आपको कि सोमवती अमावस्या पर शिप्रा में स्नान का जितना महत्व है उससे कहीं अधिक सोमतीर्थ कुंड में स्नान और जल्पेश्वर महादेव के दर्शन और पूजन का महत्व है लिहाजा प्रशासन ने रामघाट के साथ ही सोमतीर्थ कुंड और जल्पेश्वर महादेव पर भी व्यवस्था की है। श्रद्धालुओं के स्नान के लिये कुण्ड के समीप फव्वारे, साईन बोर्ड, वस्त्र बदलने के लिये अस्थाई शामियाने तथा पर्याप्त प्रकाश के लिये हैलोजन आदि के साथ ही चलित शौचालय, पेयजल टेंकर की व्यवस्था भी की गई है। सुरक्षा के दृष्टिगत सीसीटीवी कैमरा भी लगाये गये हैं और नियंत्रण कक्ष भी बनाया गया है।

नगर निगम कर्मचारियों द्वारा सोमतीर्थ पर साफ-सफाई की जा रही है तथा कचरे के वाहन भी लगाये गये है जो कचरा उठा रहे हैं। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर और एसपी ने व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त किया। कलेक्टर शशांक मिश्र ने निर्देश दिये कि सुरक्षा की दृष्टि से कुण्ड के समीप अतिरिक्त बैरिकेट्स लगवाये जायें। कुण्ड के समीप जहां भी स्थान खाली हो, वहां भी बैरिकेट्स लगवाये जायें। जगह-जगह सावधानी के बोर्ड भी लगाये जायें तथा वस्त्र बदलने के स्थान पर महिलाओं के बोर्ड लगवाये जायें। जहां चलित शौचालय रखे गये हैं, वहां जाने के दिशा-सूचक भी लगाये जायें। मन्दिर में जल चढ़ाने के लिये बाहर लगे जलपात्र का कलेक्टर और एसपी ने अवलोकन किया। उन्होंने निर्देश दिये कि मन्दिर के प्रवेश द्वार पर भी बैरिकेट लगाया जाये, ताकि जलपात्र में जल चढ़ाकर श्रद्धालु बाहर से ही भगवान के दर्शन करे।
पुलिस अधीक्षक सचिन अतुलकर ने निर्देश दिये कि सोमतीर्थ के ठीक पीछे नदी की ओर जाने वाले मार्ग पर भी बैरिकेट्स लगाये जायें, ताकि अनावश्यक भीड़ एकत्रित न हो। मन्दिर में दर्शन के बाद निकास द्वार से श्रद्धालुओं को छोड़ा जाये। साथ ही सोमतीर्थ और उसके आसपास के प्रमुख मार्ग पर बड़े वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित करने को कहा है। सोमवती अमावस्या की व्यवस्थाओं के लिए बनाये गये कंट्रोल रूम के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने निर्देश दिये कि लाऊड स्पीकर की संख्या और बढ़ाई जाये तथा उन्हें मन्दिर के समीप, मन्दिर परिसर और मन्दिर आने वाले मार्ग पर लगाया जाये, ताकि हर जरूरी घोषणा श्रद्धालुओं तक पहुंच सके। मन्दिर से सटे खेतों के रास्ते को बैरिकेट लगवाकर कवर करने के लिये कहा गया। पूजन सामग्री विक्रेताओं को एक निश्चित स्थान निर्धारित कर दिये जाने के निर्देश दिये गये। एसपी श्री अतुलकर ने मन्दिर में प्रवेश से लेकर थोड़ा दूर तक सेन्ट्रल बैरिकेट्स और विस्तारित करने के लिये कहा, ताकि आवागमन में किसी प्रकार की असुविधा न हो।निरीक्षण के दौरान एडीएम जीएस डाबर, डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट होमगार्ड सुमत जैन सहित प्रशासनिक अधिकारी व पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।
रामघाट पर भी स्नान के लिये आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को ध्यान में रखकर पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। चलित शौचालय लगाये गये हैं तथा महिलाओं के लिये वस्त्र बदलने के कक्ष को रंग-रोगन किया गया है तथा वहां बोर्ड लगा दिये गये हैं। रामघाट पर पर्याप्त संख्या में होमगार्ड के सैनिक स्नान पर्व पर पूरे समय तैनात रहेंगे। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिये होमगार्ड की चार नावें तथा दो हजार लाईफ सेविंग जैकेट भी रखे गये हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *